‘फिल्लौरी’ की भूतनी देखी है क्या?

see in ghost phillaurio

कहानी के इस भूतकाल में दिलजीत दोसांझ (फ़िल्लौरी) नाम के एक शायर बने हैं और अनुष्का (शशी) उनकी आजकल एक नया चलन चल पड़ा है, स्टार रिव्यू का. किसी भी फ़िल्म के रिलीज़ से पहले बॉलीवुड के एक्टर्स अपने फ़िल्म जगत के तमाम दोस्तों को इकट्ठा लेते हैं और फिर सब सोशिल मीडिया पर फ़िल्म की तारीफ़ करने में जुट जाते हैं.
इसी तरह की शुरूआत अभिनेत्री और निर्माता अनुष्का शर्मा की फ़िल्म फिल्लौरी के साथ भी हो चुकी है क्योंकि इसकी तारीफ़ करने वालों में शाहरूख ख़ान से लेकर आलिया भट्ट तक शामिल हैं.
तो मैंने टिकट ख़रीदकर फ़िल्लौरी देखी ताकि आप टिकट ख़रीदने से पहले फ़िल्म की सही समीक्षा जान सकें.
पहले बात कहानी पर, फ़िल्म की कहानी शुरु होती है एक पंजाबी एनआरआई कनन और अनु की शादी से जहां वही सब कुछ दिखता है जो आप करण जौहर और यशराज की फ़िल्मों में सौ दफ़ा देख चुके हैं.
कनन मांगलिक है इसलिए उसकी शादी एक पेड़ से करवाई जाती है और उसी पेड़ की भूतनी के रूप में अनुष्का शर्मा की फ़िल्म में एन्ट्री होती है.
कनन और अनु की शादी तक वो एक मैरिज काउंसिलर की भूमिका निभाती हैं और बीच-बीच में फ़िल्म की कहानी अठ्ठानबे साल पीछे आती जाती रहती है, जो अनुष्का के भूत बनने से पहले की कहानी है.
कहानी के इस भूतकाल में दिलजीत दोसांझ (फ़िल्लौरी) नाम के एक शायर बने हैं और अनुष्का  (शशी) उनकी मोहब्बत.
ज़ाहिर है दोनों का मिलन नहीं हो पाता इसलिए अनुष्का एक अच्छी भूतनी बन चुकी है, लेकिन वो क्यों नहीं मिल पाए और क्या कनन और अनु की शादी हो पाती है.
इन सवालों के जवाब जानने अब भी आपको दिलचस्पी है तो आप फिल्लौरी देखने के क़ाबिल हैं.
वैसे जब फिल्लौरी को मनोरंजन की कसौटी पर हमने जांचा परखा तो पाया कि फ़िल्म बेहद धीमी और देखी हुई लाइन पर ही चलती है.
यह एक धीमी रफ़्तार, औसत कहानी, बेजान गीत-संगीत वाली,  कहीं कहीं दर्शक को हंसाने वाली एक ऐसी फ़िल्म है जिसे पांच में से दो स्टार्स ही दिए जा सकते हैं.
हालांकि फिल्म के गीत ‘साहिबा…’ और अनुष्का-दिलजीत का गाए हुए  रैप सॉन्ग को भी रिलीज होते ही लोखों हिट मिले थे.
लेकिन भले ही हमारे दो स्टार हो या आपकी राय बिज़नेस के लिहाज़ से फिल्लौरी मुनाफ़ा कमा ही लेगी, कुछ थिएटर कलेक्शन से, कुछ सैटेलाइट राइट्स से और बाकी दुनियाभर के डिजिटल माध्यमों से.
वैसे करीब 21 करोड़ की लागत से बनी फ़िल्लौरी रिलीज़ से पहले ही म्यूज़िक-सैटेलाइट राइट्स के ज़रिए 12 करोड़ रुपये कमा चुकी है और बाकी आप इस फ़िल्म के कारोबार में कितना योगदान देना चाहते हैं ये तो आपकी श्रद्धा पर है.
बतौर प्रोड्यूसर फिल्लौरी अनुष्का की दूसरी फिल्म है. इससे पहले अनुष्का फिल्म ‘एनएच 10’ को भी प्रोड्यूस कर चुकी हैं. ‘एनएच 10’ 2015 की एक बड़ी हिट साबित हुई थी. इस लिए लोगों को ‘फिल्लौरी’ से भी काफी उम्मीदें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *